उस शख्स का ग़म भी कोई सोचे-Gham Shayari

Gham Shayari

Uss Shakhss Kaa Gamm Bee Koii Sochee,

उस शख्स का ग़म भी कोई सोचे,

Jisee Rotaa Huaa Naa Dekhaa Hoo Kisii Nee.

जिसे रोता हुआ ना देखा हो किसी ने।

Gham Shayari

Uss Galii Mee Hajaarr Gam Tootaa,

उस गली में हजार ग़म टूटा,

Aanaa Jaanaa Magarr Humsee Nhii Choota.

आना जाना मगर नहीं छूटा।

Mohabbat Usee Bhi Bhutt Haii Mujhsee,

मोहब्बत उसे भी बहुत है मुझसे,

Gham Shayari

Zindagii Saarii Isee Whamm Nee Lee Lii.

ज़िंदगी सारी इस वहम ने ले ली।

Gm Kii Tashreeh Bhutt Mushkil Thii,

ग़म की तशरीह बहुत मुश्किल थी,

Tohh Apnii Tasveer Dikhaaa Dii Humnee.

तो अपनी तस्वीर दिखा दी मैंने।

Ranj-o-Gam Ishk Kee Gujarr Bei Gyee,

रंजो-ग़म इश्क के गुजर भी गए,

 Abb Tohh Wohh Dil See Utarr Bei Geye.

अब तो वो दिल से उतर भी गए।

For more  hindi shayari update तो दिन भर खुशियाँ अपने साथ होती हैं-Good Morning Shayari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *