लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती-hindi poem for kids

hindi poem for kids

लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती

laharon se darakar nauka paar nahin hotee

कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती

koshish karane vaalon kee kabhee haar nahin hotee

नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चढ़ती है

nausheen cheentee jab daana lekar chadhatee hai

चढ़ती दीवारों पर सौ बार फ़िसलती है

 

chadhati deewaron par sauhindi poem for kids baar fisalatee hai

मन का विश्वास रगों में साहस भरता है

man ka vishvaas ragon mein saahas bharata ha

चढ़कर गिरना, गिरकर चढ़ना न अखरता है

Chadkar  girna, girkar chadna na aakarta hai

मेहनत उसकी बेकार नहीं हर बार होती

Mahent un ki bekaar nhi har baar hoti hai

कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती

Koshish karne walon ki kbhi haar nhi hoti

डुबकियाँ सिंधु में गोताखोर लगाता है

dubakiyaan sindhu main gotakhor lagaata hai

hindi poem

जा-जा कर खाली हाथ लौट कर आता है

 Jaa jaa kar kaali haath loot kr aata hai

मिलते न सहज ही मोती गहरे पानी में

Milte na sahaj moti jhare pani me

बढ़ता दूना विश्वास इसी हैरानी में

badhata doona vishvaas isee hairaanee mein

मुट्ठी उसकी खाली हर बार नहीं होती

mutthee usakee khaalee har baar nahin hotee

कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती

koshish karane vaalon kee kabhee haar nahin hotee

असफ़लता एक चुनौती है, स्वीकार करो

asafalata ek chunautee hai, sveekaar karo

क्या कमी रह गई देखो और सुधार करो

kya kamee rah gaee dekho aur sudhaar karo

जब तक न सफल हो, नींद-चैन को त्यागो तुम

jab tak na saphal ho, neend-chain ko tyaago tum

संघर्षों का मैदान छोड़ मत भागो तुम

sangharshon ka maidaan chhod mat bhaago tum

कुछ किये बिना ही जय-जयकार नहीं होती

kuchh kiye bina hee jay-jayakaar nahin hotee

कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती

koshish karane vaalon kee kabhee haar nahin hotee

interested to read Good morning shayari and मुझे तो अँधेरों में जलना भी आता है-hindi poem 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *