तेरे शहर में ज़िंदगी कहीं तो होनी चाहिए-Life Shayari

life shayari

Samanderr Naa Sahii Perr Ekk Nadii Tooh Honi Chahiyee,

समंदर न सही पर एक नदी तो होनी चाहिए,

Teree Shaharr Mein Zindagii Kahin Tooh Honi Chahiyee.

तेरे शहर में ज़िंदगी कहीं तो होनी चाहिए।

life shayari

Ekk Tooti Sii Zindagii Koo Samet nee Kii Chahat Thii,

इक टूटी-सी ज़िंदगी को समेटने की चाहत थी,

Naa Khabarr Thi Unn Tukdoon Ko Hi Bikheer Baithhengee hum.

न खबर थी उन टुकड़ों को ही बिखेर बैठेंगे हम।

shayari on life

Fikrr Hai Sab koo Khud Koo Sahi Sabit Karnee Kii,

फिक्र है सबको खुद को सही साबित करने की,

Jaisee Zindagi, Zindagii Nahii Koii Iljaam Haii.

जैसे ये ज़िंदगी, ज़िंदगी नहीं, कोई इल्जाम है।

get good stuff of attitude shayari and many more मैं तुम्हारी सादगी की क्या मिसाल दूँ-Hindi Shayari on Beauty

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *