गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो।-Bewafa Shayari

bewafa shayari

Abb Kee Abb Tasleem Kerr Leinn Tuu Nhii Too Mee Shii,

अब के अब तस्लीम कर लें तू नहीं तो मैं सही,

Kon Mnegaa Kee Humm Mee Sewe Bewafaa Koii Nhii.

कौन मानेगा कि हम में से बेवफा कोई नहीं।

bewafa shayari

Mere Fan Koo Tarashaa Hee Sabhii Kee Neek Iraadon Nee,

मेरे फन को तराशा है सभी के नेक इरादों ने,

Kisii Kii Bewafaii Nee Kisii Kee Jhoothee Vaa don Nee.

किसी की बेवफाई ने किसी के झूठे वादों ने।

Mehfill Mee Galee Mil Kee Woo Dheere Seee Khaa Gayee,

महफ़िल में गले मिल के वो धीरे से कह गए,

bewafa shayari
bewafa shayari

Yee Duniyaa Kii Rasmm Hee Mohabbat Naa Samajh Lenaa.

ये दुनिया की रस्म है मोहब्बत न समझ लेना।

Mujhee Shikwaa Nhii Kuchh Bewafai Kaa Terii Hargij,

मुझे शिकवा नहीं कुछ बेवफ़ाई का तेरी हरगिज़,

Gila Too Tabb Hoo Agarr Tuu Nee Kisii See Nibhai Hoo.

गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो।

Iss Duniyaa Mee Wafaa Kar nea Walon Kii Koii Kamii Nhii,

इस दुनिया में वफ़ा करने वालों की कमी नहीं,

Bss Pyarr Hii Uss See Hoo Jataa Hai Joo Bewafa Hoo.

बस प्यार ही उससे हो जाता है जो बेवफा हो।

Enjoy the Best Collection of Shayari in Hindi: बेहद हूँ बेहिसाब हूँ बेइन्तहा हूँ मैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *