poem on nature in Hindi, खुशी खुशी से आया है सावन

hindi poem for kids

हरी हरी खेतों में बरस रही है बूंदे,

haree haree kheton mein baras rahee hai boonde,

खुशी खुशी से आया है सावन,

Khushi khushi se aaya hai saaven

भर गया खुशियों से मेरा आंगन।

hindi poem for kids

Baar gaya khushiya se mera aagen 

ऐसा लग रहा है जैसे मन की कलियां खिल गई,

Essa lag raha hai jaise man ki kaliya khil gayi

ऐसा आया है बसंत,

Essa aaya hai basant

लेकर फूलों की महक का जशन

Lekar phoolon ki mahak ka jasahan 

धूप से प्यासे मेरे तन को,

Duup se pyar mere taan ko

बूंदों ने भी ऐसी अंगड़ाई,

boondon ne bhee aisee angadaee,

hindi diwas poem

उछल कूद रहा है मेरा तन मन,

Uchal kuud raha hai mera tan man

लगता है मैं हूं एक दामन।

Lagata hai me ek daaman 

यह संसार है कितना सुंदर,

Yhe sansaar kitna sunder 

लेकिन लोग नहीं हैं उतने अकलमंद

Lakin log nhi hai, utne akalmand

यही है एक निवेदन,

Yahi hai ek nevadan

मत करो प्रकृति का शोषण

Math kroprakrti ka shoshan

read more interesting Dua shayari and

जो मिल गया उसी का हाथ थाम लिया-love poem in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *